Iraqi Foreign Minister Ibrahim al-Jaafari looks on before a meeting of the EU-Iraq cooperation group, on October 18, 2016 in Brussels. Iraqi forces were making gains as tens of thousands of fighters advanced on Mosul on October 18 in an unprecedented offensive to retake the city from the Islamic State group. / AFP / JOHN THYS (Photo credit should read JOHN THYS/AFP via Getty Images)

इब्राहिम के पिता सऊदी अरेबियन थे, मां कुवैत से थीं. पुणे में इब्राहिम का जन्म हुआ था. कुल नौ भाई-बहन थे. परिवार संपन्न था. विभाजन के वक्त यानी 1947 में इब्राहिम का पूरा परिवार पाकिस्तान चला गया, लेकिन उन्होंने यहीं रुकने का फैसला किया. पुणे से स्कूलिंग हुई और आगे की पढ़ाई मुंबई के सेंट ज़ेवियर कॉलेज से. जब वो कॉलेज में थे, तभी उन्होंने सुल्तान ‘बॉबी पदमसी’ की थियेटर ग्रुप कंपनी जॉइन कर ली.

हालांकि बाद में कला की पढ़ाई के लिए वो लंदन चले गए. वहां रॉयल एकेडमी ऑफ ड्रामेटिक आर्ट (RADA) से जुड़े. वहां भी उन्हें कई सारे ऑफर्स आए, लेकिन पढ़ाई पूरी होने के बाद सारे ऑफर्स को ‘ना’ बोलते हुए वापस भारत आ गए. फिर एक थियेटर ग्रुप से 1950 से 1954 तक जुड़े रहे.

1962 में NSD, दिल्ली के डायरेक्टर बने. 1977 तक बने रहे. इस दौरान कई तरह के ज़रूरी बदलाव और कई ज़रूरी नई चीज़ें वो NSD लेकर आए. 50 बरस के थे, तब डायरेक्टर की पोस्ट छोड़ दी. फिर अपनी पत्नी के साथ दिल्ली में ही गैलरी आर्ट हेरिटेज खोला. अपनी आर्ट, तस्वीरों और किताबों का एक कलेक्शन बनाया.


वीडियो देखें: सुशांत के पिता ने वीडियो जारी करके मुंबई पुलिस की जांच के बारे में ये कहा है

इब्राहिम अल्काज़ी. भारत में थियेटर की दुनिया के दिग्गज. अब इस दुनिया में नहीं रहे. 4 अगस्त को इब्राहिम का देहांत हो गया. ‘दी इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, उनके बेटे फैसल अल्काज़ी ने बताया कि उन्हें (इब्राहिम) को हार्ट अटैक आया था, उसके बाद उन्होंने दिल्ली के एस्कॉर्ट्स अस्पताल में आखिरी सांस ली. वो 95 बरस के थे.

प्रधानमंत्री ने भी दी श्रद्धांजलि

इब्राहिम के निधन पर सोशल मीडिया पर कई लोग उन्हें याद कर रहे हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट करके श्रद्धांजलि दी है. लिखा,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here